जगदलपुर के विकास में पूज्य सिंधी पंचायत की भूमिका अग्रणी: रेखचंद जैन

0
124

करीम
जगदलपुर। शनिवार को शहर के रोटरी हॉल में सिंधी नाटक का मंचन किया गया। छत्तीसगढ़ सिंधी साहित्य अकादमी के तत्वावधान में संत कंवररामजी के जीवन पर आधारित नाटक का मंचन किया गया। इस अवसर पर मौजूद संसदीय सचिव व जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन ने कहा कि सिंधी पंचायत का योगदान देश- प्रदेश के आर्थिक व सामाजिक विकास में रहा है। छत्तीसगढ़ के विकास में प्रत्येक क्षेत्र में समाज का योगदान परिलक्षित होता है। जगदलपुर समेत बस्तर अंचल के संदर्भ में भी यह बात सौ फीसदी सत्य है। श्री जैन ने कहा कि सिंधी समाज का अद्वितीय प्यार उन्हें मिलता रहा है। 2018 में प्रदेश में कांग्रेस सरकार के गठन पश्चात मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने समाज हित में अनेक फैसले किए हैं। उन्होने चेट्रीचंड महोत्सव पर राज्य सरकार द्वारा अवकाश की घोषणा करने तथा छत्तीसगढ सिंधी साहित्य परिषद की स्थापना के लिए मुख्यमंत्री का आभार माना। साथ ही, अकादमी के लिए पर्याप्त अनुदान की व्यवस्था की ताकि सामाजिक- सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा सके। श्री पूज्य सिन्धी पंचायत अध्यक्ष उधाराम मूलचंदानी ने बताया कि सिन्धी समाज एवं सिन्धी संस्कृति को आगे बढ़ाने के साथ मानवीय व परोपकार करने की भावना वाला आयोजन किया गया। सिंधुड़ीय जो सरताज कंवर सिन्धी नाटक के लिए नागपुर से कलाकारों के आगमन की उन्होने जानकारी भी दी। जगदलपुर में पहली बार हो रहे आयोजन के दौरान समाज के सदस्य बड़ी संख्या में मौजूद रहे। श्री पूज्य सिन्धी पंचायत सहसचिव हरेश नागवानी ने बताया कि सिन्धी समाज के लिए इस प्रकार का सामाजिक नाट्य प्रथम बार हुआ। सिन्धी समाज के पदाधिकारियों एवं सदस्यों में उत्सुकता बनी रही। कार्यक्रम उपरांत प्रसाद भण्डारा किया गया। इसमें सिन्धी पंचायत के साथ श्री गुरु संगत गुरुद्वारा कमेटी, सुहिणी सोच(महिला टीम), सिन्धी नवयुवक मंडल, सेवा समर्पण, जे जे एल टीम की महत्वपूर्ण भूमिका रही। इस दौरान नानक रेलवानी, दिलीप खटवानी, अमर बजाज, राजकुमार पन्जवानी, सुंदर भोजवानी, कैलाश दंडवानी, राजकुमार दंडवानी, मदन हसानी, बसंत मेघवानी, संजय नत्थानी, गोवर्धन नवतानी, किशन चंद वासरानी, मनीष मूलचंदानी, गौरनाथ नाग, हेमू उपाध्याय, सूर्या पाणि समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here