एनएमडीसी मुकर गई है अपने वादे से

0
211

अधिग्रहण के 13 साल बाद भी प्रभावित लोगों को काम नहीं

जगदलपुर / नगरनार स्टील, प्लांट भूमि के अधिग्रहण और प्रभावित लोगों को किए गए वादें से मुकर गया है । मंगलवार को प्रभावितों ने पत्रकारों को बताया कि 71 ऐसे जरूरत मंद लोग हैं जिनमें महिलाएं और उनका एक मात्रा आसारा ही जमीन था अधीग्रहण कर लिया गया । और उन्हें आज तक रोजगार नहीं मिला है। हांलाकि भूमि अधिग्रहण से पूर्व ये वादा किया गया था कि उन्हें एनएमडीसी में नौकरी दी जाएगी। । रिपोर्टों के अनुसार, राष्ट्रीय खनिज विकास निगम ने नगरनार स्टील प्लांट के लिए भूमि का अधिग्रहण किया था, जिसमें उन लोगों को नौकरी देने का वादा किया गया था जिनकी भूमि का अधिग्रहण किया गया था। लेकिन भूमि अधिग्रहण के 13 साल बाद भी प्रभावित लोगों को काम नहीं दिया गया है। और उनके सामने रोजगार की बड़ी समस्या उत्पन्न हो गई है ।

प्रभावित लोगों ने एनएमडीसी और सरकार के प्रति निराशा और अपना रोष व्यक्त किया। उनका दावा है कि रोजगार के अवसर मुहैया कराने के वादे के साथ उनकी जमीन ले ली गई, लेकिन इस संबंध में कुछ भी नहीं किया गया।

प्रभावितों ने मीडिया को बताया कि जिला कलेक्टर ने भी उनकी मांग पर अपनी मुहर लगाई थी साथ ही यह भी खुलासा किया है कि भूमि अधिग्रहण के कारण उनका जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

प्रभावित लोगों ने अपनी स्थिति के बारे में प्रेस से बात की है। उन्होंने अपनी दर्द मीडिया के सामने साझा किया है कि भूमि अधिग्रहण के कारण उनका जीवन कैसे प्रभावित हुआ है और कैसे वादों के बावजूद उन्हें नौकरी का कोई अवसर नहीं मिला है।

इस मुद्दे ने जनता के बीच चिंता पैदा कर दी है और लोग एनएमडीसी और सरकार से जवाबदेही की मांग कर रहे हैं। नगरनार स्टील प्लांट परियोजना से रोजगार के अवसर प्रदान करने और क्षेत्र के विकास में योगदान करने की उम्मीद है। हालांकि, प्रभावित लोगों को रोजगार प्रदान करने में विफलता ने परियोजना को झटका दिया है और सरकार की नीतियों की प्रभावशीलता पर सवाल उठाया है।

एनएमडीसी और सरकार ने अभी तक आलोचना का जवाब नहीं दिया है और प्रभावित लोग अपनी शिकायतों के समाधान की उम्मीद कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here