बस्तर के विकास में सहकारी बैंक की भूमिका अग्रणी: रेखचंद जैन

0
124

करीम
जगदलपुर। किसानों के हित में कार्य करने वाली सर्वोच्च संस्था केंद्रीय सहकारी बैंक है। बस्तर के विकास में इसकी अग्रणी भूमिका है। बुधवार को छत्तीसगढ़ सहकारी प्रशिक्षण संस्थान रायपुर के द्वारा प्राथमिक सहकारी साख समितियों के नव नियुक्त अध्यक्षों व प्राधिकृत अधिकारियों के दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन अवसर पर संसदीय सचिव तथा जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन ने यह बात कही। उन्होने खुशी जाहिर की कि जगदलपुर में पहली बार इस प्रकार का प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। कार्यक्रम के प्रारंभ में विधायक रेखचंद जैन का स्वागत फूल- माला पहनाकर किया गया। तत्पश्चात बैंक अधिकारियों ने सहकारी बैंक की गतिविधियों की जानकारी दी। श्री जैन ने प्रशिक्षण प्रदान करने की पहल के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व अपेक्स बैंक चेयरमैन बैजनाथ चंद्राकर का आभार माना। साल दर साल राज्य में धान खरीदी का रिकार्ड बनने की बात कही। राजीव गांधी न्याय योजना में अन्य उपजों को सम्मिलित करने की जानकारी दी। गोधन न्याय योजना की जानकारी देते बताया कि राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा देकर गोबर खरीदी की जा रही है। प्राधिकृत अधिकारियों से किसानों की समस्याओं का समाधान करने, शासन की योजनाओं को धरातल पर उतारने तथा यथोचित सहयोग प्रदान करने की अपील भी की। विधायक श्री जैन ने लैम्प्स अधिकारियों के साथ समन्वय बनाकर काम करने कहा। विधायक ने वन भूमि के समस्त पट्टाधारकों को शासन की सभी योजनाओं का लाभ दिलाने कहा।
25 हजार किसानों ने पहली बार धान बेचा
यह बताया कि जगदलपुर डिवीजन के अंतर्गत पहली बार 25 हजार किसानों ने धान बेचा है। इस साल पिछले वर्षों की तुलना में अधिक धान की खरीदी की गई है। किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड का वितरण राज्य के मैदानी इलाकों के बराबर किया गया है। जब यह बातें बताई गई तो प्रशिक्षण कक्ष तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। श्री जैन ने प्रशिक्षण में आए प्राधिकृत अधिकारियों व अध्यक्षों को प्रमाणपत्र का वितरण भी किया। कार्यक्रम के दौरान संयुक्त पंजीयक एल एल बृंझ, उप पंजीयक विनोद बुनकर, सीईओ एसके जोशी, प्रबंधक अपेक्स बैंक आनंद लहरे, अतिरिक्त प्रबंधक एसए रजा, नोडल अधिकारी केएस ध्रुव, पूर्व उप सरपंच हाट कचोरा दिनेश सिंह, पार्षद दयाराम कश्यप, संतोष सिंह, निदेशक मंडल के शंकर नाग, सुदरू, बोन्जाराम, रूपनाथ बघेल, विद्याधर जीराम, मेघनाथ, सहदेव नाग, जयमन मौर्य, फागुराम मौर्य, रामुराम, साधूराम समेत अन्य सदस्य, केंद्रीय सहकारी बैंक के अधिकारी- कर्मचारी, प्रशिक्षणार्थी आदि बड़ी संख्या में मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here