योजनाओं के क्रियान्वयन का जनप्रतिनिधि भी करें निरीक्षण – लखेश्वर बघेल

0
154

करीम
जगदलपुर/सुकमा 22 मई  बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री लखेश्वर बघेल ने कहा कि संभाग के सभी जिलों में मुख्यमंत्री की घोषणाओं, वनाधिकार मान्यता पत्र देवगुड़ियों को सामुदायिक वनाधिकार मान्यता पत्र देने में बहुत अच्छा कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि हमारे जनप्रतिनिधियों को भी योजनाओं के क्रियान्वयन का भी सतत निरीक्षण करने की आवश्यकता है।साथ ही गोठनों में संचालित आर्थिक गतिविधियों से जुड़ने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करें। बविप्रा अध्यक्ष श्री बघेल सोमवार को सुकमा जिले के जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की बैठक को संबोधित कर रहे थे।
इस अवसर पर उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा ने कहा कि सभी जिलों के कलेक्टर ने अच्छा कार्य किया है। बस्तर की राजधानी के रूप में संभागीय मुख्यालय जगदलपुर से सभी योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन की उम्मीद ज्यादा है, इसके लिए अधिक मेहनत की जरूरत होगी। शासन की प्राथमिकता वाली सभी योजनाएं का क्रियान्वयन धरातल में दिखनी चाहिए। इस वर्ष सुकमा जिले के प्रशासन ने मेहनत की जिसके कारण 10वीं की परीक्षा में पहला, 12 वीं की परीक्षा में दूसरा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में जिला अस्पताल को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला। ऐसा सभी प्रयास करें ताकि बस्तर का नाम सकारात्मक कार्यों के लिए विश्व पटल पर हो। बैठक को बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री  विक्रम मंडावी और श्री संतराम नेताम ने भी संबोधित कर विकास कार्यों में गति देने और योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन पर जोर दिया। बैठक में  संसदीय सचिव व जगदलपुर विधायक श्री रेखचन्द जैन, हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष व विधायक नारायणपुर श्री चंदन कश्यप, दंतेवाड़ा विधायक श्रीमती देवती कर्मा,चित्रकोट विधायक श्री राजमन बेंजाम,अंतागढ़ विधायक श्री अनूप नाग, भानुप्रतापपुर विधायक श्रीमती सावित्री मंडावी, सभी जिलों के जिला पंचायत अध्यक्ष, प्राधिकरण के मनोनीत सदस्य, कमिश्नर और बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के सदस्य सचिव श्री श्याम धावड़े, आई जी श्री सुंदरराज पी. सातों जिलों के कलेक्टर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, वन मंडलाधिकारी, संभाग स्तरीय अधिकारी, एनएमडीसी के अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में बस्तर संभाग अन्तर्गत व्यवसायिक परी़क्षा में सफल आर्थिक रूप से कमजोर एवं निर्धन छात्र-छात्राओं के लिए जिला खनिज न्यास निधि मद व सीएसआर मद में प्रति जिला दो करोड़ प्रावधानित करने के लिए सभी सदस्यों ने सहमति दी। इसके अलावा जिला नारायणपुर में वीरांगना रमौतिन माड़िया, लिंगो मुदियाल, जिला दन्तेवाड़ा में शहीद हिड़मा मांझी व बारसूर में वीरांगना राकुमार मासक देवी नाग, बस्तर जिले के लोहण्डीगुड़ा में वीरांगना राजकुमारी चमेली नाग, तोकापाल में शहीद हरचन्द नाईक, बकावण्ड में शहीद जकरकन भतरा, केलाउर में मड़कामी मासा और जगदलपुर जिला पुरातत्व संग्रहालय में शहीद गेंदसिंह, जिला बीजापुर में शहीद धुरवाराम माड़िया और शहीद बाबूराव सड़में की प्रतिमा स्थापना हेतु 10-10 लाख की स्वीकृति दी गई। बैठक में पेसा कानून के संबंध में मास्टर ट्रेनर के द्वारा आवश्यक जानकारी दी गई। प्राधिकरण के सदस्य द्वारा जिलों की सीमा में प्रवेश द्वार बनाने के प्रस्ताव को कलेक्टरों के माध्यम से बनाने की भी स्वीकृति दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here