वर्दी एक मौका देती है देशभक्ति और देश सेवा के लिए :- कर्नल श्री बी एस धामी

0
30

जगदलपुर 31 जनवरी भारतीय सैन्य बलों में अग्निवीर भर्ती के लिए संभाग स्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन श्यामा प्रसाद मुखर्जी सभागार (टाउन हॉल) में किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कर्नल श्री बी एस धामी और पुलिस अधीक्षक श्री शशिमोहन सिंह रहे। इस अवसर पर कर्नल श्री धामी ने कहा कि वीरता, साहस, जज्बे को राष्ट्रभक्ति में परिवर्तन करने के लिए वर्दी एक मौका देती है। देशभक्ति और देश सेवा के लिए फौजी बनकर एक बेहतर लीडर,समय पर त्वरित निर्णय लेने और मैन पावर का अच्छा उपयोग किया जा सकता है। कर्नल ने अपने सेना में आने के प्रेरणा का उल्लेख करते हुए बताया कि फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ के वक्तव्य से प्रभावित होकर सेना में भर्ती हुआ। 26 राजपूत बटालियन में देश सेवा की शुरुवात हुई इस सेना ने मुझे बहुत कुछ दिया। पुलिस अधीक्षक श्री शशिमोेहन सिंह ने कहा कि हमारे देश में बलिदान की एक पंरपरा है। देश के नौजवान को देश की रक्षा हेतु जब भी बुलाए तैयार रहना चाहिए। सशक्त भारत के निर्माण में युवा सामने आकर अग्निवीर के रूप में भर्ती होकर देश की सेवा करें। उन्होंने कविता के माध्यम से युवाओं को प्रेरित किया। युवा सामने आए जीवन के हर क्षेत्र मे अपने शत-प्रतिशत योगदान दें, राष्ट्र निमार्ण पर सहयोग करें। उन्होंने कहा कि देश की रक्षा आर्मी करती है आतंरिक रक्षा पुलिस करती है। देश की रक्षा-राष्ट्र भक्ति के लिए सकंल्प लेकर कठिन परिस्थितियों मे रहकर हमारे जवान देश के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ बलिदान देते हैं। मेजर प्रवीण तिवारी ने कहा कि बस्तर के माटी में वीरता का गुण है। अपने जोश को जगाकर फौज में भर्ती हों। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी श्री जेपी पात्रों ने अग्निवीर के वायु और थल सेना की भर्ती गतिविधियों तथा सेना द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं के संबंध में जानकारी दी। इसके आलावा मोटिवेशन वीडियो के माध्यम से युवाओं और उपस्थितजनों को प्रेरित किया गया। इस अवसर पर सभी जिलों के रोजगार अधिकारी और बढ़ी संख्या में युवा उपस्थित थे। अग्निवीर भर्ती के लिए ऑनलाइनपंजीयन एवं आवेदन 17 जनवरी 2024 से शुरू हो चुकी है जो आगामी 06 फरवरी 2024 तक जारी रहेगी। ऑनलाइन पंजीयन वेबसाइट https://agnipathvayu.cdac.in पर की जा सकती है। भर्ती प्रक्रिया सम्बन्धी विस्तृत जानकारी वेबसाइट www.armyrecruitment.cg.nic.in पर देखी जा सकती है और सम्बंधित जिले के जिला रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र से सम्पर्क किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here