शशांक त्रिवेदी के द्वारा बनाई गई शॉर्ट फिल्म दवा अब दादा साहब फाल्के फेस्टिवल के लिए हुई चयनित

0
193

करीम

जगदलपुर के 21 साल के शशांक त्रिवेदी ने कॉलेज प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए 14 मिनट की शार्ट फिल्म दवा तैयार की…, जो अब काफी चर्चित हो रही है.. जैपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल, लिफ्ट ऑफ ग्लोबल, कोच्चि फिल्म फेस्टिवल, हिमाचल शार्ट फिल्म फेस्टिवल, गोवा शार्ट फिल्म फेस्टिवल के बाद अब दादा साहेब फाल्के फेस्टिवल के लिए चयनित हुई है.. जैपुर फिल्म फेस्टिवल में इसे श्रेष्ठ पैनोरमा शार्ट फिल्म और हिमाचल शार्ट फिल्म फेस्टिवल में श्रेष्ठ नरेटिव फिल्म की कैटेगरी में पुरस्कृत किया गया है।

14 मिनट की बनी शॉर्ट फिल्म दवा मे नशा को लेकर दिखया गया हैं…पढ़ाई के अलावा अब बस्तर के बच्चे अब फिल्म मेकिंग में भी हाथ आजमा रहे हैं.. शशांक उन बच्चों में से एक हैं, जिन्होंने फिल्मी दुनिया में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करवाई है.. वे बताते हैं कि शार्ट फिल्म दवा के जरिए नशे के खिलाफ संदेश देने का प्रयास किया गया है।..14 मिनट की फिल्म की मुख्य किरदार एक छोटी बच्ची है.. खास बात यह है कि अब तक 5 से अधिक राष्ट्रीय स्तर के फिल्म फेस्टिवल में धूम मचा चुकी है।..फिल्म तैयार करने में सालों लग जाते हैं, लेकिन शशांक ने महज 21 साल की उम्र में अच्छा मुकाम हासिल कर लिया है.. गंभीर विषय का चुनाव करने के साथ ही फिल्मांकन बेहतरीन होने के कारण ही एक के बाद एक राष्ट्रीय स्तर के फिल्म महोत्सव में शॉर्ट फिल्म दवा को जगह मिल रही है..शशांक ने न केवल इस फिल्म को डायरेक्ट किया, बल्कि एडिटिंग में भी अपना हुनर दिखाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here