शहिद महेन्द्र कर्मा विश्वविद्यालय में हुआ डॉ अंबेडकर जयंती के उपलक्ष्य में व्याख्यान माला का आयोजन

0
181

करीम

जगदलपुर, 15 अप्रैल . भारतीय संविधान के जनक, डॉ. बी.आर. अंबेडकर जयंती के अवसर पर दिनांक 14 अप्रैल 2023 को शहीद महेन्द्र कर्मा विश्वविद्यालय, बस्तर में एक दिवसीय व्याख्यान का आयोजन किया गया।

राजनीति विज्ञान अध्ययनशाला, शहीद महेन्द्र कर्मा विश्वविद्यालय, बस्तर जगदलपुर के द्वारा संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर जयंती दिवस 14 अप्रैल 2023 को अजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत यह एक दिवसीय व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन हुआ।

इस आयोजन में मुख्य वक्ता के रूप में माननीय श्री मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अनिल कुमार बारा, न्यायाधीश जगदलपुर (छत्तीसगढ़) एवं माननीय  धम्मशील गणवीर, आईएफएस, निदेशक, कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान, जगदलपुर, छत्तीसगढ़ मौजूद थे। भारतीय संविधान के जनक बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की जीवनी पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। श्री गणवीर द्वारा डॉ अंबेडकर जी के जीवन संघर्ष के बारे में बताया गया। साथ ही युवाओं को डॉ. अंबेडकर से प्रेरणा लेकर पे बैक टू सोसाइटी के सिद्धांत पर कार्य किए जाने के लिए अपील किया गया।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो. (डॉ.) मनोज कुमार श्रीवास्तव, कुलपति श.म.क.वि.वि. बस्तर, जगदलपुर द्वारा की गई। उन्होंने डॉ. अंबेडकर के शैक्षणिक योगदान और विभिन्न विषयों में ज्ञान के बारे बताया। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री अनिल कुमार बारा द्वारा संवैधानिक अधिकार और कर्तव्यों में डॉ. अंबेडकर जी की योगदान के बारे में बताया गया। साथ ही अपने-अपने कर्तव्यों का कैसे पालन किया जाना चाहिए इस संबंध में उन्होंने अपने विचार रखे।

विशिष्ट अतिथियों के रूप में डॉ. अभिषेक कुमार बाजपेयी, कुलसचिव, श.म.क.वि.वि. बस्तर, जगदलपुर, डॉ. शरद नेमा, चीफ प्रोक्टर, श.म.क.वि.वि. बस्तर, जगदलपुर, डॉ. स्वपन कुमार कोल, विभागाध्यक्ष, मानव विज्ञान एवं जानजातिय अध्ययनशाला, श.म.क.वि.वि. बस्तर, जगदलपुर, डॉ. सजीवन कुमार, विभागाध्यक्ष, राजनीति विज्ञान अध्ययनशाला, श.म.क. वि.वि. बस्तर, जगदलपुर मौजूद थे। कार्यक्रम के संयोजक डॉ. मुनेश्वर लाल साहू, अतिथि व्याख्याता, राजनीति विज्ञान अध्ययनशाला, श.म.क.वि.वि. बस्तर, जगदलपुर उपस्थित थे।कार्यक्रम के सह संयोजक श्री राकेश सिंह गौतम, अतिथि व्याख्याता राजनीति विज्ञान) अध्ययनशाला, श.म.क.वि.वि. बस्तर, जगदलपुर रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here