महेंद्र कर्मा विश्वविद्यालय के खराब रिजल्ट के लिए कांग्रेस सरकार दोषी कांग्रेश राज्य में शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त – राकेश तिवारी

0
155

जगदलपुर।  कांग्रेस की घटिया शिक्षा नीति की कीमत बस्तर संभाग के छात्रों को चुकानी पड़ रही है। शहीद महेंद्र कर्मा विश्वविद्यालय का इस वर्ष का परिणाम कांग्रेस सरकार की शिक्षा नीति की पोल खोल रहा है, जिसमें संभाग के 71 फ़ीसदी विद्यार्थी असफल हो गए और मात्र 29 फीसदी छात्र ही सफलता पाने में सफल रहे ।
नगर मंडल उपाध्यक्ष राकेश तिवारी के प्रेस विज्ञप्ति जारी कर सहित विश्वविद्यालय के वार्षिक परीक्षा फल पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।
राकेश तिवारी ने कहा कि बस्तर विश्वविद्यालय का नाम शहीद महेंद्र कर्मा विश्वविद्यालय करने के अतिरिक्त कांग्रेस सरकार ने और कुछ भी नहीं किया है बस्तर विश्वविद्यालय में प्रोफेसरों की कमी लगातार बनी हुई है जिसकी भर्ती प्रदेश सरकार करने में नाकाम रही है।
इसके अतिरिक्त कांग्रेस सरकार ने जितने भी महाविद्यालयों की स्थापना की है किसी में भी पर्याप्त संख्या में है प्रोफेसर अन्य शैक्षणिक स्टॉप नहीं है।
राकेश तिवारी ने कहा कि इसलिए कांग्रेस सरकार ने गत वर्ष कोरोना का प्रकोप ना होने के बाद भी विद्यार्थियों की ऑनलाइन परीक्षा ली थी।
इस वर्ष कांग्रेस की कलई खुल चुकी है और प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था का स्तर सबकी नजर में आ चुका है ।
राकेश तिवारी ने कहा कि शहीद महेंद्र कर्मा विश्वविद्यालय से 52 महाविद्यालय संबद्ध हैं परंतु इन 4 वर्षों में सरकार ने 52 विषय विशेषज्ञ की नियुक्ति करने में असफल रही है ।
राकेश तिवारी ने कहा कि कांग्रेस सरकार जानबूझकर बस्तर के छात्रों का भविष्य कमजोर कर रही है ताकि यहां के छात्र पर लिखकर सरकार से नौकरी की मांग ना करें।
नगर मंडल उपाध्यक्ष ने कहा कि भूपेश सरकार की प्राथमिकता कभी बस्तर जिला रहा ही नहीं है ,इसलिए वह यहां की शिक्षा व्यवस्था को ध्वस्त करना चाहते हैं ,और इसके लिए उन्होंने सबसे पहले उन्होंने प्राथमिक स्तर पर शिक्षा व्यवस्था को ध्वस्त करने का शुरुआत की और वर्तमान परीक्षाफल देखने के बाद यह स्पष्ट होता है, कि उच्च शिक्षा पर भी भूपेश सरकार ने अपनी वक्र दृष्टि डाल दी है ।
राकेश तिवारी ने कहा कि कांग्रेस सरकार विश्वविद्यालयों में सुविधाओं की बढ़ोतरी करें और विषय विशेषज्ञों की तत्काल नियुक्ति करें और वर्तमान परीक्षा फल के लिए छात्र-छात्राओं से सार्वजनिक माफी मांगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here