लखमा ने बाँटे नोट

0
27
जगदलपुर, 25 मार्च.  कांग्रेस ने बस्तर लोकसभा सीट के लिए पूर्व आबकारी मंत्री कवासी लखमा को अपना प्रत्याशी बनाया है। शनिवार को उनके नाम का ऐलान हुआ और रविवार को वे जुलूस निकालते हुए शहर पहुंचे। शहर में दाखिल होते ही लखमा पहले दंतेश्वरी मंदिर गए। यहां उन्होंने माता का आशीर्वाद लिया। इसके बाद जैसे ही लखमा मंदिर के बाहर निकले वे वहां आयोजित होलिका दहन के लिए मौजूद लोगों से मिले।
इस दौरान लखमा लोगों के बीच पांच-पांच सौ के नोट बांटते दिखे। लखमा का नोट वितरण कैमरे में कैद हो गया। लखमा के नोट बांटने पर भाजपा ने कहा कि यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। प्रत्याशी घोषित होने के बाद लखमा ऐसा नहीं कर सकते। भाजपा ने कहा कि पांच साल तक आबकारी मंत्री के रूप में लखमा ने जो कमाया है उसे ही जनता के बीच बांट रहे है। लखमा पैसों के दम पर चुनाव लड़ने के लिए बस्तर आए हैं, लेकिन जनता सब समझ रही है।
कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता जावेद खान ने मामले में कहा कि एक तरफ भारतीय जनता पार्टी खुद को सबसे बड़ा सनानत धर्म का ध्वज वाहक कहती है वहीं दूसरी ओर सनानत संस्कृति तक को नहीं समझती। सनातन संस्कृति के बारे में ज्ञान नहीं रखती। भाजपा को सोचना चाहिए कि वह क्या बोल रही है। बस्तर लोकसभा से प्रत्याशी कवासी लखमा ने होलिका दहन में चढ़ावा दिया था ना कि पैसे बांटने का कार्य किया।
नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष और भाजपा नेता संजय पांडेय ने आचार संहिता में नोट बांटे जाने पर कहा कि अभी पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ एफआईआर हुई और अब आगे इनके खिलाफ होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here