कोबरा बटालियन के सहयोग से नक्सलगढ़ कहे जाने वाले ग्रामों मे पशु चिकित्सा शिविर का आयोजन 

0
128

करीम
जगदलपुर ,20 सितम्बर. छत्तीसगढ़ राज्य के अंतिम छोर तेलंगाना राज्य की सरहद पर बसे सुकमा जिला अंतर्गत आने वाले सुदूर,दुर्गम अति संवेदनशील घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र डब्बामार्का तथा कांसाराम एवं अलकनगुड़ा गाँव में कोबरा 208 वीं बटालियन द्वारा जिला प्रशासन एवं पशुधन विकास विभाग को पत्र लिखकर बताया गया की मवेशियों में फैल रहे मौसमी बिमारियों के खिलाफ उचित कदम उठाकर पशुओं का उपचार,टीकाकरण वह औषधियों से पशुधन को सुरक्षित रखना अति आवश्यक विषयक पत्र से  कलेक्टर महोदय के निर्देशन मे उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं जिला सुकमा के द्वारा शीघ्रातिशीघ्र कार्यवाही करते हुए मोबाइल यूनिट टीम पशु चिकित्सालय सुकमा से डॉ.सुमेर सिंह जगत,डॉ.टेकेश्वर कंवर,पशु चिकित्सालय दोरनापाल से  प्रवीण बघेल सहायक पशु क्षेत्राधिकारी एवं पशु चिकित्सालय कोंटा से डॉ.सूर्यकांत सोरी के नेतृत्व में 16 सदस्यीय टीम ने डब्बामार्का ग्राम में पहुंचकर लगातार तीन दिनों तक गाँवो मे मौसमी बीमारीयों का टीकाकरण,डिवर्मिंग तथा अस्वस्थ पशुओं का उपचार किया गया तथा पशुपालकों को पशु औषधियों वह मिनरल मिक्सचर का वितरण कर ग्रामवासियों को मौसमी बीमारी से संक्रमित पशुओं को स्वस्थ पशुओं से अलग रखने तथा संक्रमण से रोकथाम हेतु आवश्यक समझाईश दिया गया!

इस कार्य हेतु 208वीं बटालियन के कमांडेंट ने किया आभार व्यक्त-  जितेंद्र कुमार ओझा कमांडेंट कोबरा 208 वीं बटालियन ने पशुधन विकास विभाग के पशु चिकित्सालय सुकमा,कोन्टा एवं दोरनापाल से पहुंची 16 सदस्यीय पशु चिकित्सकों की टीमों के साथ-साथ जिलाधिकारी,पुलिस अधीक्षक एवं उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं जिला सुकमा को अतिशीघ्र कार्यवाही के लिए आभार व्यक्त कर भविष्य मे पशुओं से संबंधित किसी भी प्रकार की आवश्यकता होने पर आपसे इसी तरह के सहयोग की अपेक्षा करते हुए आभार व्यक्त किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here