कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में पर्यटकों के लिए कायाकिंग प्रारम्भ

0
200

करीम

राष्ट्रीय उद्यान से लगे धूडमारास में होगा संचालन

कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के समीप धुड़मारास में ईको-विकास समिति ने कायाकिंग की शुरुआत की है। अब बस्तर आने वाले पर्यटकों को एक नया रोमांच का अनुभव मिलेगा। धूड़मारास से लगे कांगेर नदी में यह गतिविधि का संचालन धुड़मारास ईको-विकास समिति के माध्यम से किया जा रहा है।

कयाकिंग के लिए पर्यटकों को दरभा रोड से पेदावाड़ा बैरियर से होते हुए धूड़मारास पहुंच सकते हैं। कायाकिंग के लिए प्रति व्यक्ति शुल्क 100 रुपये रखा गया है। पर्यटकों को अब रोमांच के साथ कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के प्रकृति एवं जैव-विविधता को देखने का मौका मिलेगा। साथ ही पर्यटकों के रुकने के लिए स्थानीय यूवा होम स्टे का संचालन भी कर रहे है।

श्री धम्मशील गणवीर, निदेशक, कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान ने बताया कि बस्तर के इको-पर्यटन में कायाकिंग का अनुभव एक नया आयाम जोड़ेगा। स्थानीय समुदाय द्वारा इसके संचालन
पहल लिया जाना एक सराहनीय पहल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here