कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में हिरण की सबसे खूबसूरत और दुर्लभ प्रजाति चौसिंगा

0
145

करीम

जगदलपुर.23 अप्रैल  जैव विविधताओं से भरे कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में हिरण की सबसे खूबसूरत और दुर्लभ प्रजाति चौसिंगा ट्रैप कैमरे में नज़र आई है। पूरी दुनिया में, सिर्फ भारत और नेपाल के जंगलों में पाए जाने वाला चौसिंगा वर्तमान की तादाद बहुत कम बची है।

चौसिंगा एशिया महाद्वीप के सबसे छोटे गोवंश प्राणियों में से एक है। इसके चार सींग होने के कारण इसे चौसिंगा कहते हैं। यह सींग केवल नरों में ही पाए जाते हैं। प्रायः दो सींग कानों के बीच में और दो आगे की तरफ माथे में होते हैं। सींगों का पहला जोड़ा जन्म के कुछ माह में ही उग जाते हैं, जबकि दूसरा 10 से 14 माह में उगता है। सभी वयस्क नरों में सींग नहीं होते हैं, खासकर टेट्रासरस क्वाड्रिकारनिस, ‘सबक्वाड्रिकारनिस उपजाति के नरों में ही होते हैं।

धम्मशील गणवीर,निदेशक कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान ने बताया कि कांगेर वैली नेशनल पार्क में चौसिंगा को वन कर्मचारियों व ग्रामीणों द्वारा पार्क में पहले भी देखा गया था। लेकिन पहली बार यह ट्रैप कैमरे में कैद हुआ है। यह एक छोटा एंटीलोप है, जो सिर्फ भारत और नेपाल के जंगलों में पाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here