कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान द्वारा जंगल-प्रकृति आधारित लोकगीतों का आयोजन

0
144

 करीम
जगदलपुर, 05 अक्टूबर  वन्य जीव सप्ताह के उपलक्ष में विकास समितियों के सहयोग से 04 अक्टूबर 2023 को कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के ग्राम नेतानार में शहीद वीर गुण्डाधुर स्मारक स्थल में लोकगीत प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।
इस कार्यक्रम में एकल और समूह गीत मिलाकर कुल 27 प्रदर्शन दिए गए, जिसमें एकल गायन में सोनुराम नाग और महादेव नाग प्रथम, भीमा मरकाम द्वितीय एवं नेहा और एलिना ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। साथ ही समूह गायन में जगरनाथ एवं इनके साथियों ने प्रथम स्थान, मोगाय एवं साथियों ने द्वितीय स्थान और जयराम एवं साथियों ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। समूह नृत्य में दियारू एवं साथियों ने प्रथम स्थान, बालसिंह एवं साथियों ने द्वितीय स्थान, देऊ एवं साथियों ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं वाद्य यंत्र में बैशाकू ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। कार्यक्रम में निर्णायक के रूप में प्रख्यात लोकगायक लखेश्वर खुदराम ,अबलेश कुमार और  बादल अकादमी से योगेश कुमार और सचिन पन्ना इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे।
ग्रामीणों और वन विभाग की साझेदारी से वन्यजीव संरक्षण में प्रयास
कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के निदेशक धम्मशील गनवीर ने बताया कि इस आयोजन के माध्यम से हमे वनों और  वन्यजीव के संरक्षण हेतु जागरुकता लाने में मदद मिलेगी, साथ ही बस्तर में प्रकृति और संस्कृति के इस अनोखे समागम को नई पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए प्रेरक और माध्यम साबित होगी। राष्ट्रीय उद्यान द्वारा लगातार इस प्रकार के आयोजन कर ग्रामीणों और वन विभाग की साझेदारी से वन्यजीव संरक्षण की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं। कार्यक्रम में 300 से अधिक लोग उपस्थित रहे, जिसमें नेतानार, कोंडापाल, नागलसर एवं मूंडागढ़ के सरपंच, ग्रामीण लोकगायक, ग्रामीण, युवोदय के स्वयंसेवक, वन मितान और कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के अधिकारी-कर्मचारी शमिल थे ।a

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here