बेनूर क्षेत्र के कुल्हार ग्राम के मेहमान हुए फूड पोइसोनिंग के शिकार आपातकाल घोषित

0
192

एस करीमुद्दीन

नारायणपुर 30अप्रैल नारायणपुर जिले के सगाई समारोह में सामिल मेहमानों के दल का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फरसगांव जिला कोंडागांव में उल्टी-दस्म से पितिड़ो की सूचना जब जिले के स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्सा एवम स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर कुवर को मिलने पर वे तुरंत ही पुरे. आपातकालीन दल के साथ बेनूर क्षेत्र के कुल्हार ग्राम पहुच कर स्वास्थ सुविधा प्रदन किये।
विभाग से मिली जानकारी अनुशार लगभग 45 सदस्यों का दल सगाई समारोह में सामिल होने ग्राम चिन्हली बेड़ा थाना उदाबेडा, फारसगाँव, जिला कोंडागांव दिनाक 29 अप्रैल दिन शनिवार को गया हुआ था,जहा मेहमान नवाजी में सामिल ग्रामीण एवं मेहमान भूलवश कुसुम के तेल से बने पकोड़ों के सेवन के पश्चात् उल्टी-दस्त से ग्रसित होने लगे | आनन फानन में उन्हें नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में उपचार हेतु लाया गया, पर मेहमान (कुल्हर ग्राम के निवासी) अपने गृह जिला नारायणपुर जाने की जिद्द करने लगे ,जिसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर कुवर को मिलने पर वे विभाग के आपातकालीन दल हेतु खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ केशव साहू, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ दीपेन्द्र चिकित्सा अधिकारी डॉ कौशि चंद्रा BETO मौलेन्द्र राणा, BDM चुकू बेलसरिया सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी प्रेमवती नाम ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक कुंती नाग एवं मितानिन के साथ ग्राम में ही आपातकालीन कार्यवाही की प्राथमिकता का निर्धारण (tiage) करते हुए कुल 27 लोगों का उपचार किये ॥ गंभीर स्थिति से ग्रसित 9 मरीजो को आगे के उपचार हेतु प्राथमिक सास्था बेनूर रेफर किया गया एवं स्वास्थ्य विभाग का एक दल ग्रामीणों के सतत निगरानी हेतु ग्राम में ही निवास करने हेतु आदेशित किया गया ॥

ज्ञात हो कि मीक ड्रील ( पूर्व तैयारी अभ्यास) एवं अंतर अंतः जिला समन्वय से जाने बचायी गयी डॉ कुवर विभिन्न मौसम हेतु भिन्न मौक ड्रील विभाग के आपातकालीन अभियान का हिस्सा रहता ही है पर कोंडागांव से अंतर जिला एवं नारायणपुर से अंतः जिला का समन्वय तथा सहयोग से हम ट्रिऐज कर गंभीर मरीजो के जान को बचा सके । अबतक भर्ती सभी मरीज खतरे से बाहर है, पर उपचाररत मरीज एवं ग्रामीण सतत निगरनी में ही रहेंगे जब तक कि आपातकाल खत्म होने की घोषणा ना की जाये ॥

लू एवं सामूहिक भोजन व्यवस्था वाले सभी कार्यक्रम में जागरूकता की अपील

स्वास्थ्य विभाग के ICC एवं जिला पंचायत CEO देवेश कुमार ध्रुव ने बताया कि रात का समय अंधी तूफान होने के कारण

बेनूर, बयानर, मदपाल, हसलनार से आये ग्रामीण छोटे से घर में असुविधा के कारण ज्यादा परेशान हो रहे थे एवं

इलाज वाली जगह ही उल्टी करने को मजबूर थे उन्हें तुरंत स्वास्थ्य केंद्र की पहुचाने हेतु CMHO डॉ कुचर एवं BMO को

निर्देश था, तत्काल वाहन की व्यवस्था तथा जिला दल से त्वरित मदद व उपचार से अनहोनी को टाला गया। ग्रीष्म काल

की “लू” एवं शादियों के अवसर पर अनहोनी की घटना का विभागीय बैठक में चर्चा कर सभी स्वास्थ केन्द्रोंके माध्यम से

प्रचार प्रसार हेतु पूर्व ही आदेश किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here