बस्तर जिले की महिला समूहों की दीदियां अपनी आर्थिक गतिविधियों के जरिए बन रही हैं लखपति

0
39

जगदलपुर, 13 मार्च  राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत बस्तर जिले की महिला स्व-सहायता समूहों की दीदियां अपनी विभिन्न आर्थिक उत्पादक गतिविधियों को पूरी लगन एवं मेहनत के साथ संचालित कर अब लखपति बन रही हैं और अन्य दीदियों को प्रेरित कर रही हैं। बकावंड विकासखण्ड की दीदियां तो अपने आय मूलक गतिविधियों से परिवार की बेहतरी को नई दिशा प्रदान कर रही हैं। इसी सफलता को मद्देनजर रखते हुए जिले के सभी विकासखण्डों में 30150 महिलाओं को लखपति बनाने का लक्ष्य रखा गया है। जिससे अधिकाधिक महिलाएं आर्थिक रूप से सशक्त होकर अपनी सफलता की नई इबारत लिख सकें।
जिले में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत लखपति बन रही दीदियों को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वर्चुअली संबोधित किया। इस दौरान दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर बस्तर ब्लॉक अंतर्गत बोदरा निवासी जमबत्ती दीदी को प्रधानमंत्री श्री मोदी का स्वागत करने का मौका मिला तो वह काफी खुश हुईं। ज्ञातव्य है कि बस्तर जिले के समस्त विकासखण्ड स्तर एवं संकुल संगठनों में उक्त कार्यक्रम करवाया गया। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत जिले में स्वयं-सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा व्यक्तिगत और सामूहिक गतिविधियां बेहतर ढंग से चलाया जा रहा है। ये सभी महिलाएं बैंक लिंकेज, सीआईएफ, आरएफ तथा सीईएफ राशि लेकर विविध आजीविका गतिविधियां संचालित कर लखपति बन रही हैं और आजीविका सम्बन्धी कार्यों के नये-नये तरीकों के बारे में जानकारी अन्य दीदियों को प्रदान कर रही हैं। इसी सफलता के फलस्वरूप बीते 11 मार्च 2024 को नईदिल्ली में आयोजित देश के प्रधानमंत्री जी के लखपति दीदी शुभारंभ कार्यक्रम में जिले के स्व-सहायता समूहों की दीदियां श्रीमति गोमती कश्यप,श्रीमति पीलमनी बघेल एवं जमबत्ती कश्यप को सम्मिलित होने का सुअवसर मिला। इन दीदियों में जमबत्ती कश्यप ने बताया कि वह विगत 2017 में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन से जुड़ने के बाद आर्थिक गतिविधियों के संचालन को लगन के साथ ध्यान केंद्रीत किया, पहले साग-सब्जी उत्पादन एवं बकरीपालन कर आय संवृद्धि किया और अब मिनी राईस मिल से अपनी आमदनी में इजाफा कर रही हैं। अब इन गतिविधियों से हर साल दो से ढाई लाख रुपए की आमदनी हो रही है। वहीं गोमती कश्यप साग-सब्जी उत्पादन,मछलीपालन और दोना-पत्तल निर्माण से करीब दो लाख रुपए आमदनी अर्जित कर रही हैं। इस मौके पर बस्तर जिले के 28 संकुल संगठन से जुड़े सदस्यों को लखपति दीदी का प्रमाण पत्र प्रदाय किया गया। इन सभी दीदियों की सफलता के लिए जिला प्रशासन के अधिकारियों तथा स्व-सहायता समूहों की दीदियों ने इन्हें अपनी हार्दिक शुभकामनाएं दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here