बुलंद भारत की मजबूत अर्थव्यवस्था का प्रतीक केन्द्रीय बजट – भाजपा

0
1439

बुलंद भारत की मजबूत अर्थव्यवस्था का प्रतीक केन्द्रीय बजट – भाजपा

जगदलपुर :- भाजपा नेताओं ने मोदी सरकार के बजट का किया स्वागत, कहा – आम बजट सर्वस्पर्शी, दूरदर्शी व संवेदनशील

बस्तर जिले के भाजपा नेताओं ने केन्द्र की मोदी सरकार के आम बजट का स्वागत किया है और बजट को ऐतिहासिक बताते हुए बुलंद भारत की मजबूत अर्थव्यवस्था का प्रतीक कहा है |

भाजपा जिला अध्यक्ष रूपसिंह मण्डावी ने कहा कि केन्द्रीय आम बजट में समावेशी विकास, अंतिम व्यक्ति का विकास, अधोसंरचना एवं निवेश, सक्षमता को बढ़ावा, हरित विकास, युवा शक्ति तथा वित्तीय क्षेत्र को प्राथमिकता दी गयी है।

इस बजट में जनजातीय समूह के लिए विशेष ध्यान रखा गया है। जनजातीय समूहों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए विकास मिशन शुरू किया जाएगा,

ताकि पीबीटीजी बस्तियों को मूलभूत सुविधाओं से परिपूर्ण किया जा सके। अगले 3 वर्षों में योजना को लागू करने के लिए 15,000 करोड़ रुपये उपलब्ध कराए जाएंगे।

एकलव्य आवासीय विद्यालय के लिए 38 हजार 800 शिक्षकों की भर्ती, साक्षरता को बढावा देने एनजीओ को विशेष मदद, पीवीटीजी विकास मिशन की शुरुआत एवं जनजातीय समाज के लिए विशेष स्कूल की शुरुआत करने का हम स्वागत करते हैं।

पूर्व सांसद दिनेश कश्यप ने कहा कि केन्द्रीय आम बजट में आम जनता को जो राहत दी गई है, उससे देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने गरीबों को मुफ्त अनाज के लिए 2 लाख करोड़ का प्रावधान किया है। यह गरीब का चावल हड़पने वालों के लिए सबक लेने का अवसर है।

भाजपा की मोदी सरकार गरीबों की चिंता करती है। गरीबों को मुफ्त इलाज, मुफ्त राशन, आवास, शिक्षा, रोजगार दे रही है। योजनाओं का विस्तार कर रही है। राहत देने के लिए प्रावधान बढ़ा रही है।

किसानों की प्रगति के लिए इंतजाम किए गए हैं। कृषि के क्षेत्र में स्टार्टअप की परिकल्पना की है। आयकर में 7 लाख रुपये तक छूट दी है।

छत्तीसगढ़ के विकास के लिए विशेष प्रावधान किए गए हैं और यहां की गरीब विरोधी, किसान विरोधी, युवा विरोधी, महिला विरोधी, कर्मचारी विरोधी कांग्रेस सरकार हर बजट में निराश करती रही है।

पूर्व विधायक संतोष बाफना ने आम बजट का स्वागत करते हुये कहा कि यह बजट गांव, गरीब, किसान, युवा, महिलाओं, बुजुर्गों, पिछड़ों, वंचितों, दलितों, जनजातीय समाज सहित हर वर्ग की आम जनता का खास बजट है। ऐतिहासिक टैक्स रिफॉर्म्स से सबको राहत मिली है। यह बजट, बुलंद भारत की मजबूत अर्थ व्यवस्था का प्रतीक है।

इस बजट ने छत्तीसगढ़ के लिए असीम संभावनाओं के द्वार खोल दिए हैं। मिलेट मिशन का हमारे जनजातीय समाज को विशेष लाभ मिलेगा। एकलव्य विद्यालयों में भर्तियां होंगी

तो वहीं हमारे तकनीकी शिक्षा संस्थानों को नवीन अवसर मिलेंगे। इस बजट में छत्तीसगढ़ के समग्र विकास का खाका तैयार हो गया है। समावेशी विकास पर आधारित यह बजट सबका साथ,

सबका विकास और सबका विश्वास का प्रतिफल है जो देश के विकास में ऐतिहासिक भूमिका निभाएगा। यह बजट घरेलू मोर्चे पर जन आकांक्षाओं की पूर्ति, जन संतुष्टि, संतुलन के साथ ही विश्व में भारतीय अर्थ व्यवस्था का डंका बजाने वाला बजट है।

गांव गरीब किसान और कृषि के उत्थान की ठोस बुनियाद वाला बजट देश की युवा पीढ़ी के भविष्य को संवारने तत्पर है। यह रोजगार देने वाला बजट है। आम मध्यम वर्ग और आम जनता को राहत देने वाला बजट है। देश को नई ऊंचाई देने वाला बजट है।

भाजपा के पूर्व प्रदेश महामंत्री किरण देव ने कहा कि केन्द्र का आम बजट हर दृष्टि से स्वागतेय है | केन्द्रीय बजट में बड़ा ऐलान किया गया है कि 7 लाख रुपये तक की आय पर कोई टैक्स नहीं लगेगा।

आयकर स्लैब में बदलाव से 15 लाख की आय होने पर वेतन भोगियों को सालाना हजारों रुपये की बचत होगी।खिलौने, ऑटोमोबाइल, मोबाइल फोन, कैमरे के लेंस, टीवी,

इलेक्ट्रिकल गाड़ी सस्ते होने से आम आदमी को महंगाई से राहत मिलेगी। बजट में युवाओं के लिए 30 स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटर खोले जाने की घोषणा ऐतिहासिक है। युवाओं के कृषि स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए फंड की स्थापना और अगले 3 साल में एक करोड़ किसानों को नेचुरल फार्मिंग में मदद देना,

साथ ही 10,000 बायो सेंटर्स बनाना युवा और कृषि क्षेत्र में एक बड़ा प्रभावी कदम साबित होगा। कुल मिलाकर इस बजट में युवाओं के रोजगार, स्टार्टअप, मध्यमवर्ग को टैक्स से बड़ी राहत,

आम जनता के उपयोग में आने वाली कई चीजों में टैक्स की कमी करने से उन्हें भी राहत मिल रही है। यह बजट भारत को विकासशील देश की श्रेणी से विकसित देश की श्रेणी की दिशा में बढ़ाने का बजट है। भारत को विश्व गुरु बनाने का बजट है।

पूर्व वन विकास निगम अध्यक्ष श्रीनिवास राव मद्दी ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार का आम बजट संवेदनशील है, दूरदर्शी है और भारत के सभी वर्गों को ध्यान में रख कर बनाया गया है |

गरीब परिवारों को पक्का घर देने की महती प्रधानमंत्री आवास योजना की राशि बढ़ा कर 79,000 करोड़ रुपये की जा रही है | बजट 2022-23 में पीएम आवास के लिये 48,000 करोड़ रूपये के आबंटन का प्रस्ताव किया गया था |

जिसे बढ़ा कर 79 हजार करोड़ किया गया है | देश को सशक्त नेतृत्व प्रदान करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार का आम बजट भारत को तरक्की की राह पर आगे बढ़ायेगा, जिसमें हर वर्ग व हर क्षेत्र को प्राथमिकता दी गयी है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here