क्या मोहन मरकाम को भी निकाला जाएगा अजय सिंह

0
1778

जगदलपुर। कांग्रेस के वरिष्ठ कार्यकर्ता एवं युवा आयोग के सदस्य अजय सिंह ने अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष मलिका अर्जुन खड़गे से प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम पार्टी से निष्कासित किए जाने की मांग की है।
श्री अजय सिंह आज जारी अपने बयान मंे कहा कि मैने गत 2 फरवरी को बीजापुर जिले में डीएमएफटी फंड में भारी भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। पर इन भ्रष्टाचारों की जांच नहीं हुई और मुझे कांग्रेस की छवि धूमिल करने के आरोप मं पार्टी से निष्कासित कर दिया गया।
व्हीं प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने विधानसभा के अंदर अपने इलाके में हुए डीएमएफटी फंड में भ्रष्टाचार का मामला उजागर करते हुए विधानसभा मं जांज की मांग की, उनके मांग पर तीन सदस्यीय जांच समिति गठित की गई।
श्री अजय सिंह ने आरोप लगाया कि विधानसभा में मोहन मरकाम ने पार्टी की छवि को धूमिल की है, जब उन्हें मामूल था कि उनके इलाके में भारी भ्रष्टचार हुआ तो इस मामले को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और विभागीय मंत्री को शिकायत किया जाना  था। पर उन्होंने ऐसा नहीं किया।
श्री अजय सिंह ने जारी अपने बयान में कहा कि मोहन मरकाम के इस बयान से पार्टी की छवि धूमिल हुई है और उन्होंने राष्टीय अध्यक्ष अर्जून खड़गे श्रीमती सोनिया गांधी तथा राहुल गांधी से मोहन मरकाम को पार्टी से निष्कासित करने की मांग की गई।

उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी उनके खिलाफ पक्षपाती थी और उन्हें अपना मामला पेश करने का उचित मौका नहीं दिया। अजय सिंह के समर्पित कांग्रेसी व्यक्ति, उन्होंने वर्षों तक कांग्रेस के लिए एक साथ लड़ाई लड़ी और एक बार उनके घर को सत्ताधारी भाजपा कार्यकर्ताओं ने झूठे आरोप के तहत ध्वस्त कर दिया था। कांग्रेस से अजय की अपमानजनक विदाई कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए कई सवाल खड़े करती है।
विदित हो कि भारतीय जनता पार्टी शासनकाल में वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ता होने कारण झूठे आरोप उनके घर को ध्वस्त किया गया था। और उन्हें बहुत प्रताड़ित किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here